Tuesday, October 27, 2020
More
    Home Crime जहरीली गैस से झुुलसकर हुई थी युवकों की मौत, हादसा छिपाने फेंकी...

    जहरीली गैस से झुुलसकर हुई थी युवकों की मौत, हादसा छिपाने फेंकी गई लाश!

    डिजिटल डेस्क जबलपुर । बरगी थाना क्षेत्र में ग्राम रमनपुर रोड पर टेढिय़ा नाले के बाद सोमवार की शाम 5 बजे दो युवकों के शव नाले के किनारे से बरामद किए गये थे। दोनों शव झुलसे हुए नजर आने पर परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। इस मामले को लेकर मंगलवार को ग्रामीणों ने थाने में जमकर हंगामा किया। उधर जाँच में पता चला कि दोनों युवक जिस ढाबे में काम करते थे वहाँ 2 टैंक गड़े हुए थे उनमें कैरोसीन भरा हुआ था। टैंक की सफाई करते समय दोनों युवकों की जहरीली गैस से उनका दम घुटने से मौत हुई थी। सूत्रों के अनुसार नाले के किनारे मिले शवों की पहचान ढाबा कर्मियों बलदेव मरावी उम्र 25 वर्ष व राजकुमार विश्वकर्मा के रूप में की गयी थी। दोनों की मौत के कारणों का छिपाने की नीयत से शवों को नाला किनारे फेंका जाना प्रतीत हो रहा था वहीं परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। उधर पुलिस इस पूरे मामले में पर्दा डालने में जुटी थी लेकिन वरिष्ठ अधिकारियों को जानकारी लगने पर घटना की बारीकी से जाँच कराई जाने पर पूरा मामला सामने आ गया। पुलिस के अनुसार जाँच उपरांत ढाबा संचालक विशाल चौकसे, उसके भतीजे आदित्य उर्फ मोनू चौकसे के खिलाफ हादसे को छिपाने व शवों को ठिकाने लगाने सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर सकती है।
    क्या था मामला… -सूत्रों के अनुसार रमनपुर स्थित जिस ढाबा में दोनों काम करते थे वहाँ पर पूर्व में अवैध रूप से पेट्रोल डीजल जमा कर बेचे जाने का आरोप परिजनों द्वारा लगाया गया था। जाँच में पता चला कि ढाबा बंद हो चुका था और वहाँ पशु पालन का काम होने लगा था। वहीं जमीन में 2 टैंक गड़े थे। एक टैंक  में ढाई तीन फीट पानी भरा हुआ था। बल्देव व उसका साथी राजकुमार टैंक में घुसकर उसकी सफाई कर रहे थे तभी उसमें भरी जहरीली गैस से उन दोनों की दम घुटने से मौत हो गयी थी। मौत की जानकारी लगने पर उनके शवों को टैंक से निकलवाकर नाले किनारे फिकवा दिया गया था।
    एक नहीं दो टैंक निकले
    सूत्रों के अनुसार ढाबे में एक नहीं दो टैंक जमीन में गड़े थे। एक टैंक फुल था और उसमें करीब 6 हजार लीटर कैरोसीन भरा हुआ था वहीं दूसरा टैंक युवकों के घुटनों तक भरा था जिसे साफ करते समय हादसा हुआ था। वहीं पुलिस को टैंक में पानी भरे होने की जानकारी देकर गुमराह करने की कोशिश की गयी थी। लेकिन हंगामा होने पर पुलिस ने 20 लीटर डीजल, 20 लीटर कैरोसीन जब्त कर ढाबा संचालक विशाल व उसके भतीजे पर मामला दर्ज कर आनन-फानन में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। उधर आरोपियों को रिमांड पर नहीं लिए जाने पर अधिकारियों ने नाराजगी जताई है।



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    कांग्रेस ने सोना तस्करी मामले को लेकर फिर साधा केरल के मुख्यमंत्री पर निशाना

    तिरुवनंतपुरम, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। केरल में सोना तस्करी मामले में कांग्रेस पार्टी सत्तारूढ़ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) पर लगातार हमलावर बनी...

    उमर अब्दुल्ला नए भूमि कानून पर खींझे, कहा- जम्मू-कश्मीर बिक्री के लिए तैयार!

    श्रीनगर, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने मंगलवार को बड़ा फैसला लेते हुए नोटिफिकेशन जारी करके कहा है कि अब जम्मू-कश्मीर...

    Drug Case: NCB के सामने हाजिर नहीं हुईं दीपिका की मैनेजर करिश्मा, दोबारा भेजा समन, घर से बरामद हुई थी ड्रग्स

    डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग एंगल सामने आने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल...

    कांग्रेस नेता सलीम शेरवानी, कई बसपा नेता सपा में शामिल

    लखनऊ, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता सलीम इकबाल शेरवानी, बसपा के पूर्व सांसद त्रिभुवन दत्त, बसपा के...

    Recent Comments

    WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com