Wednesday, October 21, 2020
More
    Home Dharm नगर सेठानी की मूर्ति नहीं रखेंगे, तस्वीर का पूजन करेंगे, न कन्या...

    नगर सेठानी की मूर्ति नहीं रखेंगे, तस्वीर का पूजन करेंगे, न कन्या भोज होगा और न ही प्रसाद बँटेगा

    157 साल पुरानी सुनरहाई दुर्गोत्सव समिति की बैठक में निर्णय
    डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
     शहर में कोरोना महामारी की व्यापकता को देखते हुए दुर्गोत्सव समितियों द्वारा शारदेय नवरात्रि में देवी माँ की मूर्ति स्थापना नहीं करने का निर्णय लिया जा रहा है। बुधवार को नगर सेठानी के नाम से जानी जाने वाली सुनरहाई दुर्गोत्सव समिति द्वारा भी शहर हित में  निर्णय लिया गया है कि इस वर्ष मूर्ति की जगह केवल घट की स्थापना की जाएगी। समिति के अध्यक्ष मुकेश राठौर ने बताया कि सुनरहाई दुर्गोत्सव समिति शहर में सबसे 156 साल प्राचीन समिति है। समिति द्वारा माता की तस्वीर रखकर नौ दिनों तक सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पुजारी द्वारा माता का विधिवत पूजन-अर्चन किया जाएगा। समिति द्वारा इस वर्ष न तो कन्या भोज कराया जाएगा और न ही लोगों को प्रसाद बाँटा जाएगा। बैठक में राजेश टंचवाले, महेन्द्र छनिया, कृष्णकांत सुहाने, दिनेश राठौर, बज्रेन्त सोनी बंटी, सुभाष अग्रवाल, राजेश सोनी, नवीन सराफ आदि करीब 50 पदाधिकारी उपस्थित थे। 



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    वायनाड में देशविरोधी वायरस को आगे बढ़ाने गए राहुल गांधी : बीजेपी

    नई दिल्ली, 21 अक्टूबर(आईएएनएस)। संसदीय क्षेत्र वायनाड में कथित पीएफआई मेंबर के परिवार से राहुल गांधी की मुलाकात पर भाजपा ने...

    कर्नाटक : आईपीएल सट्टेबाज गिरोह का भंडाफोड़, 1 गिरफ्तार

    बेंगलुरु, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। बेंगलुरु पुलिस की केंद्रीय अपराध शाखा (सीसीबी) ने शहर में चल रहे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के...

    स्मृति दिवस पर दिल्ली पुलिस ने शहीद कर्मियों को दी श्रद्धांजलि

    नई दिल्ली, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली पुलिस ने 1 सितंबर, 2019 से 31 अगस्त, 2020 के बीच ड्यूटी के दौरान अपने...

    पुलिस असामाजिक तत्वों, राष्ट्रद्रोही ताकतों का कठोरता से दमन करे : आनंदीबेन

    भोपाल, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्यप्रदेश की प्रभारी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि पुलिस असामाजिक तत्व एवं राष्ट्रद्रोही ताकतों का...

    Recent Comments