Tuesday, October 27, 2020
More
    Home National उप्र में कृषि विधेयकों के विरोध में किसानों का चक्का जाम, विपक्ष...

    उप्र में कृषि विधेयकों के विरोध में किसानों का चक्का जाम, विपक्ष भी उतरेगा सड़कों पर

    लखनऊ , 25 सितंबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार की ओर से संसद में पारित कृषि विधेयकों के खिलाफ शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के किसान सड़क पर उतरकर चक्का जाम कर रहे हैं। विशेष तौर पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में विधेयकों के विरोध को लेकर सक्रियता तेज है। हालात को देखते हुए तमाम राजनीतिक दलों की सक्रियता भी बढ़ गई है। प्रदेश में सपा और कांग्रेस इस मसले पर सरकार को घेरने की जुगत में है।

    किसानों के चक्का जाम के समर्थन में समाजवादी पार्टी भी सभी जिलों में धरना-प्रदर्शन कर रही है। वहीं, कांग्रेस 28 सितंबर को विधानभवन का घेराव करेगी और शुक्रवार से 31 अक्तू बर तक किसानों को जागरूक करने का महाभियान चलाएगी।

    भारतीय किसान यूनियन के प्रदेष उपाध्यक्ष हरिनाम सिंह वर्मा ने बताया, संसद में पास हुए किसान बिल का विरोध शुक्रवार को किया जाएगा। इस दौरान सड़क पर किसान उतर कर विरोध करेंगे। चक्का जाम के दौरान एम्बुलेंस, सेना की गाड़ी या किसी खास काम से जा रहे व्यक्तियों को नहीं रोका जाएगा। अगर सरकार विधेयक वापस नहीं लेगी तो आन्दोलन आगे जारी रहेगा।

    सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जिला इकाइयों को कृषि एवं श्रम कानूनों के विरोध में डीएम के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन भेजने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इन कृषि विधेयकों से किसान अपनी जमीन का मालिक न रहकर मजदूर हो जाएंगे। गेहूं, धान, फ ल, सब्जी को आवश्यक वस्तु अधिनियम से हटाने से किसानों को बड़े आढ़तियों और व्यापारिक घरानों की शतोर्ं पर अपनी फ सलें बेचनी पड़ेंगी।

    कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि नये कृषि कानून के खिलाफ 25 सितम्बर से 31 अक्टूबर तक व्यापक जनान्दोलन चलाया जाएगा। सोशल मीडिया के माध्यम से खेती-किसानी पर हुए इस हमले के खिलाफ कैम्पेन चलाया जाएगा। 28 सितम्बर को कांग्रेसजन विधानसभा का घेराव करेंगे। 2 अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी एवं लालबहादुर शास्त्री जी की जयन्ती पर इस काले कानून के खिलाफ ब्लाक मुख्यालयों पर सत्याग्रह करेगी। इसके उपरान्त 31 अक्टूबर तक लगातार कांग्रेस जनों द्वारा इस मुद्दे को लेकर केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार के द्वारा बनाये गये किसान विरोधी कानून के खिलाफ आम जनता के बीच जाकर जनजागरण अभियान जायेगा।

    विकेटी-एसकेपी



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    कांग्रेस ने सोना तस्करी मामले को लेकर फिर साधा केरल के मुख्यमंत्री पर निशाना

    तिरुवनंतपुरम, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। केरल में सोना तस्करी मामले में कांग्रेस पार्टी सत्तारूढ़ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) पर लगातार हमलावर बनी...

    उमर अब्दुल्ला नए भूमि कानून पर खींझे, कहा- जम्मू-कश्मीर बिक्री के लिए तैयार!

    श्रीनगर, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्र सरकार ने मंगलवार को बड़ा फैसला लेते हुए नोटिफिकेशन जारी करके कहा है कि अब जम्मू-कश्मीर...

    Drug Case: NCB के सामने हाजिर नहीं हुईं दीपिका की मैनेजर करिश्मा, दोबारा भेजा समन, घर से बरामद हुई थी ड्रग्स

    डिजिटल डेस्क, मुंबई। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग एंगल सामने आने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल...

    कांग्रेस नेता सलीम शेरवानी, कई बसपा नेता सपा में शामिल

    लखनऊ, 27 अक्टूबर (आईएएनएस)। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता सलीम इकबाल शेरवानी, बसपा के पूर्व सांसद त्रिभुवन दत्त, बसपा के...

    Recent Comments

    WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com