Friday, March 5, 2021
More
    Home Politics बिहार: CM नीतीश के उद्घाटन से पहले ही टूट गया बंगरा घाट...

    बिहार: CM नीतीश के उद्घाटन से पहले ही टूट गया बंगरा घाट महासेतु का अप्रोच रोड, खर्च हुए हैं 509 करोड़

    डिजिटल डेस्क, पटना। बिहार के गोपालगंज में बाढ़ ने एक बार फिर नीतीश सरकार के विकास कार्यों की पोल खोल दी है। छपरा में बुधवार को उद्घाटन से पहले ही बंगरा घाट महासेतु का अप्रोच रोड टूट गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज ही 509 करोड़ रुपए की लागत से बने इस मेगा ब्रिज का उद्घाटन करने वाले हैं। ऐसे में सरकार की किरकिरी भी हो रही है, क्योंकि इससे पहले गोपालगंज में उद्घाटन होने के महज एक महीने भीतर ही एक पुल टूट चुका है। अब अप्रोच रोड टूटने के मुद्दे को लेकर विपक्ष ने बिहार पर पर निशाना साधा है। 

    बिहार बाढ़: 29 दिन में बह गया 264 करोड़ का पुल, नीतीश ने किया था उद्घाटन, तेजस्वी बोले- लूट मची है

    जानकारी के मुताबिक, बैकुंठपुर में सारण बांध टूटने से बंगरा घाट महासेतु की अप्रोच रोड टूट गई। महासेतु की अप्रोच सड़क करीब 50 मीटर के दायरे में ध्वस्त हुई है। हालांकि बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। दो से अधिक जेसीबी मशीनों और सैकड़ों मजदूरों को मरम्मत के काम पर लगाया गया है।

    गोपालगंज आरजेडी ने ट्वीट कर कहा, गोपालगंज का बंगरा घाट का पुल सीएम द्वारा उद्घाटन के पहले ही टूट गया। अब बीजेपी-जेडीयू वाले हल्ला करेंगे कि पुल नहीं अप्रोच रोड टूटा है जैसे अप्रोच रोड विपक्ष ने बनाया हो। मुख्यमंत्री फिर भी उद्घाटन करेंगे क्योंकि वो आजकल किसी भी नई, पुरानी, जर्जर, टूटी चीज़ों का उद्घाटन करने को आमादा हैं।

    बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीएम पर निशाना साधते हुए कहा, पटना में बैठकर 509 करोड़ की लागत के जिस पुल का अभी नीतीश कुमार जी उद्घाटन कर रहे है उसका पहुंच पथ वास्तविक लोकेशन पर धंस रहा है। अब इससे ज़्यादा भ्रष्टाचार का बड़ा सबूत क्या होगा? कोई पुल उद्घाटन के दिन, कोई उद्घाटन के पहले और कोई उद्घाटन के 29 दिन बाद टूट जाता है।

    आरजेडी नेता तेजस्वी ने कहा, वर्षों से 509 करोड़ की लागत से बन रहे बंगरा घाट पुल का अप्रोच पथ टूटा हुआ है। टूटे हुए पुलों, पथों और बांधों के उद्घाटन की सरकार इतनी जल्दी क्यों है? उद्घाटन से पहले ही पथ टूटना इनके काले भ्रष्टाचार की पोल खोल रहा है?

    इससे पहले बिहार के गोपालगंज में 264 करोड़ की लागत से बना पुल महज 29 दिन के अंदर पानी में बह गया था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 16 जून को पटना से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस सत्तर घाट महासेतु का उद्घाटन किया था। यह रामजानकी पथ मुख्य रूप से पूर्वी चंपारण के केसरिया तथा बैकुंठपुर को जोड़ता है। पुल, पुलिया और संपर्क पथ के निर्माण में लगभग 263 करोड़ रुपये की राशि खर्च की गई थी।





    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    Recent Comments