Tuesday, March 9, 2021
More
    Home Crime व्यापारियों से होटल में जब्त हुआ सवा करोड़ रू. को सोना चांदी...

    व्यापारियों से होटल में जब्त हुआ सवा करोड़ रू. को सोना चांदी और नकदी

     डिजिटल डेस्क सिवनी । कोतवाली पुलिस ने नगर के एक होटल में दबिश देकर वहां से 80 लाख रुपए का सोना चांदी और 45 लाख से अधिक की नकदी जब्त की है। चार लोगों के पास से मिली इन कीमती धातुओं और नकद के संबंध में मौके से कोई भी बिल और दस्तावेज नहीं मिले। सभी को हिरासत लेकर धारा 102 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। आयकर विभाग ने भी तफ्तीश शुरु कर दी है। बुधवार को एएसपी कमलेश खरपुसे ने प्रेसवार्ता में यह खुलासा किया। इस साल सोने चांदी की यह दूसरी बड़ी जब्ती है। ये घटनाएं साफ इशारा कर रही हैं कि जिले में  सराफा का कारोबार कच्चे बिल में टैक्स चोरी कर लंबे समय से चल रहा है।
    मुखबिर से मिली थी खबर
    पुलिस के अनुसार मंगलवार की रात खबर मिली थी कि वीनस होटल में कुछ संदिग्ध व्यक्तियों के पास सोना चांदी रखा हुआ है।  कार्रवाई करते मौके से इंदौर निवासी नमित पिता गिरीश कश्यप,(27), मनोज गूजर पिता भागीरत प्रसाद, ललित पिता जगदीश प्रसाद सोलंकी,  पंजाब के तारणतर निवासी अवतार सिंह पिता सरदार वेअंत सिंह(54) और उसका बेटा मनप्रीत सिंह को हिरासत में लिया गया। वे सोना चांदी और नकदी के संबंध में कोई दस्तावेज नहीं दे पाए। सभी को संदिग्ध मानते हुए जब्ती की कार्रवाई की गई।
    ये हुई जब्ती
    होटल संचालक दीपक सालुके से पूछताछ में बताया कि एक लॉकर में बैग रखा है जिसमें से 540 ग्राम के सोने के जेवर मिले। उसके अनुसार अमृतसर के व्यापारी राजेल सरदार के जेवर हैं। इसके अलावा पुलिस ने चारों लोगों से45.64 लाख नकदी, 20 लाख रुपए की 44 किलो चांदी के जेवर और 60 लाख रुपए का 1.400 किलो सोना मिला। इसमें से चांदी की सिल्ली भी मिली हैं। इस कार्रवाई में कोतवाली टीआई एमडी नागोतिया, एसआई सतीष उईके, एएसआई राजेश शर्मा, आरक्षक रवि धुर्वे, अजय मिश्रा, ब्रजेश, गुलशन, धनवान,  ललित मरकाम, ललित शर्मा, गुलाब कुमरे, अरविंद मंडराह, आत्माराम, नीरज आम्रवंशी,सैनिक राजकुमार सनोडिय़ा और डायल 100 का स्टाफ शामिल था।
    टैक्स चोरी का बड़ा कारोबार
    सराफा कारोबार में टैक्स चोरी का यह बड़ा खुलासा है। हालांकि इसके पहले भी कोतवाली पुलिस ने एक व्यापारी से सात किलो चांदी और 450 ग्राम सोने के जेवर बरामद किए थे। उस दौरान भी व्यापारी बिल नहीं दे पाया था।जिले में कई सराफा दुकानदार टैक्स चोरी कर रहे हैं। दो प्रकार की बिल बुक तैयार कर जेवर बेच रहे हैं। इस बिल में जीएसटी आदि की जानकारी नहीं होती है जिसे अधिकांश ग्राहकों को दिया जाता है।
    इनका कहना है
    यह कहा नहीं जा सकता कि टैक्स चोरी कर सराफा का कारोबार चल रहा है लेकिन अभी का जो प्रकरण है उसमें तफ्तीश कर रहे हैं। पूरी जांच के बाद और तथ्य सामने आएंगे।
    कुमार प्रतीक,एसपी, सिवनी



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    Recent Comments