Sunday, November 29, 2020
More
    Home National बेंगलुरु दंगा मामले में विधायक के भतीजे ने मानी अपमानजनक पोस्ट की...

    बेंगलुरु दंगा मामले में विधायक के भतीजे ने मानी अपमानजनक पोस्ट की बात

    बेंगलुरु, 14 अगस्त (आईएएनएस)। कर्नाटक कांग्रेस विधायक के भतीजे पी. नवीन ने फेसबुक पर अपमानजनक टिप्पणी पोस्ट करने की बात स्वीकार की है, जिससे 11 अगस्त को शहर के पूर्वी उपनगर में दंगे भड़क उठे थे।

    पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

    बेंगलुरु पूर्व के पुलिस उपायुक्त एसडी शरणप्पा ने यहां आईएएनएस से कहा, पूछताछ के दौरान, नवीन ने अपमानजनक टिप्पणी पोस्ट करने की बात स्वीकार कर ली, जिसे पहले उसने नकार दिया था और यह दावा किया कि उसका फेसबुक अकाउंट हैक कर लिया गया था, जब उसे 12 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था।

    26 वर्षीय नवीन, शहर के उत्तर-पूर्वी उपनगर में पुलकेशिनगर (रिजर्व) खंड से कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के भतीजे हैं।

    शरणप्पा ने कहा, दंगों की जांच मामले में नवीन हमारी हिरासत में हैं, क्योंकि यह सोशल मीडिया पर उसकी भड़काऊ पोस्ट थी जिसने हिंसा करने के लिए एक भीड़ को उकसाया, जिसमें उनके चाचा (मूर्ति) का घर जला दिया गया था और क्षेत्र में हमारे एक स्टेशन (डीजे हल्ली) पर हमला किया गया और क्षतिग्रस्त कर दिया गया।

    विपक्षी कांग्रेस ने दावा किया कि अपमानजनक पोस्ट के लिए नवीन के खिलाफ शिकायत के बाद भी पुलिस ने उनके खिलाफ कार्रवाई में देरी की और विरोध प्रदर्शन और बाद में भीड़ द्वारा हिंसा हुई, जिसमें कई वाहन जल गए और सार्वजनिक संपत्ति नष्ट हो गई।

    कांग्रेस प्रवक्ता एमए सलीम ने यहां आईएएनएस को बताया, अगर पुलिस ने डीजे हल्ली थाने में उसके खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद तुरंत कार्रवाई की होती तो भीड़ द्वारा हिंसा, आगजनी और तोड़फोड़ नहीं की जाती और तीन लोगों की जान नहीं जाती, सलीम ने आईएएनएस को बताया।

    जब थाने पर हमला करने से भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाठीचार्ज और आंसू गैस का इस्तेमाल विफल हो गया, तो पुलिस ने गोली चलाई, जिसमें क्षेत्र के तीन युवाओं की मौत हो गई।

    सलीम ने कहा कि हालांकि नवीन की रिश्तेदारी मूर्ति से है, वे एक भाजपा समर्थक हैं, जो उनके फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट से स्पष्ट है, जिसमें उन्होंने मई 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को वोट देने का दावा किया था।

    दंगों के सिलसिले में अब तक 206 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए लोगों में शहर के पूर्वी उपनगर के नागवारा सिविक वार्ड से कांग्रेस पार्षद इरशाद बेगम के पति कलीम पाशा शामिल हैं।

    एक पुलिस सूत्र ने कहा कि हालांकि नवीन के खिलाफ शिकायत में पाशा हस्ताक्षर करने वालों में से एक है, लेकिन उन पर मूर्ति के घर में आग लगाने के लिए और पुलिस स्टेशन पर हमला करने के लिए अनियंत्रित भीड़ को उकसाने का आरोप है।

    वीएवी-एसकेपी



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    राजकोट अस्पताल में अगलगी की जांच करेंगे रिटायर्ड जज

    गांधीनगर, 28 नवंबर (आईएएनएस)। गुजरात सरकार ने शनिवार को घोषणा की कि राजकोट के उदय शिवानंद अस्पताल में आग लगने की जांच गुजरात...

    डीडीसीए ने 8 पैनल की घोषणा की, क्रिकेट सलाहकार समिति अगले सप्ताह

    नई दिल्ली, 28 नवंबर (आईएएनएस)। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने शनिवार को वित्त समिति के अलावा सात और समितियों की घोषणा...

    पहलवान नरसिंह यादव, गुरप्रीत कोरोना पॉजिटिव

    सोनीपत, 28 नवंबर (आईएएनएस)। भारतीय फ्री स्टाइल पहलवान नरसिंह यादव (74 किग्रा), ग्रीको रोमन पहलवान गुरप्रीत सिंह (77 किग्रा) तथा फिजियोथेरेपिस्ट विशाल राय...

    लोकसभा स्पीकर ओम बिरला बोले, अंगदान को जनांदोलन बनाने की जरूरत

    नई दिल्ली, 28 नवंबर(आईएएनएस)। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने राष्ट्रीय अंगदान दिवस के मौके पर शनिवार को कहा कि अंग दान जीवन दान...

    Recent Comments