Sunday, November 29, 2020
More
    Home International अमेरिकी चुनाव परिणामों में देरी का रहा है इतिहास

    अमेरिकी चुनाव परिणामों में देरी का रहा है इतिहास

    न्यूयॉर्क, 3 नवंबर (आईएएनएस)। अमेरिका के चुनाव पर सारी दुनिया की नजरें गड़ी हुई हैं। मगर ऐसा हो सकता है कि हम शायद तीन नवंबर की रात को डोनाल्ड ट्रंप बनाम जो बाइडन के परिणाम को न जान सकें। यह विचित्र नहीं है। सन् 2000 और इससे पहले भी अमेरिका के चुनावी परिणाम में देरी हो चुकी है।

    अगर 2000 की बात करें तो चुनाव के एक महीने बाद 12 दिसंबर को अमेरिका और दुनिया के लोगों को चुनावी नतीजों की जानकारी मिल पाई थी। तब अमेरिका सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया कि फ्लोरिडा को वोटों की गिनती बंद करनी चाहिए और जॉर्ज डब्ल्यू बुश बनाम अल गोर के लिए चुनाव कराया जाए।

    वर्ष 1937 तक, अमेरिकी राष्ट्रपति जनवरी के बजाय मार्च महीने में सत्ता की गद्दी संभालते थे, क्योंकि मुख्य रूप से मतगणना में ही लंबा समय बीत जाता था।

    1918 में स्पैनिश फ्लू के दौरान चुनाव आयोजित किए गए थे, लेकिन वे राष्ट्रपति चुनाव नहीं बल्कि मध्यावधि चुनाव थे।

    अमेरिकी इतिहास की जानकारी रखने वाले इतिहासकारों का मानना है कि थॉमस जेफरसन बनाम जॉन एडम्स की 1800 में हुई चुनावी लड़ाई नौ महीने तक चली थी।

    हालांकि वर्तमान चुनाव में नौ महीने का समय किसी और परिदृश में सामने आया है। दरअसल डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन को ठीक नौ महीने पहले ही कोरोनावायरस महामारी के बारे में पता चला और अभी तक महामारी ने अमेरिका में ऐसी तबाही मचाई कि इसकी वजह से 231,000 से अधिक अमेरिकी अपनी जान गंवा चुके हैं।

    यह चुनाव कई मायनों में खास है, क्योंकि इसमें कई चीजें पहली बार देखने को मिल रही हैं।

    इस बार के चुनाव में एक बात पहली बार देखी जा रही है, वह यह है कि एक अश्वेत और भारतीय अमेरिकी महिला कमला हैरिस एक प्रमुख पार्टी के टिकट पर उप-राष्ट्रपति की दावेदार हैं।

    इसके अलावा यह पहली बार है जब दोनों राष्ट्रपति पद के उम्मीदवारों की आयु 70 वर्ष से अधिक है। ट्रंप जहां 74 वर्ष के हैं, वहीं बाइडन 77 साल के हो चुके हैं।

    यह भी पहली बार है, जब अमेरिकी चुनाव एक बड़ी वैश्विक महामारी के बीच चल रहा है, जिसने देश के हर एक राज्य में लोगों की जान ली है। अमेरिका ने एक ही दिन में 100,000 कोरोना संक्रमण के मामलों का विश्व रिकॉर्ड भी बनाया है।

    एकेके/एसजीके



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    किसान आंदोलन: तीसरे दिन टिकरी और सिंघु बार्डर पर डटे किसान, चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात, शाह के आह्वान पर हो सकती है बातचीत

    डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। दिल्ली चलो मार्च के...

    छत्तीसगढ़: नक्सलियों ने सुकमा जिले के ताड़मेटला इलाके में किया आईईडी विस्फोट, CRPF के 5 जवान घायल

    डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के ताड़मेटला इलाके में नक्सलियों के एक IED विस्फोट में कोबरा 206 (CoBRA 206) बटालियन...

    चीन का नया पैंतरा, कहा- भारत ने दुनियाभर में फैलाया कोरोना, ब्रिटेन यूनिवर्सिटी ने दावे को किया खारिज

    डिजिटल डेस्क, बीजिंग। कोरोना वायरस का पूरे विश्व में फैलाने वाले चीन ने अब नई चाल चली है। चीन एक वैज्ञानिक रिपोर्ट के...

    म्यांमार से आए और 8 रोहिंग्या असम में गिरफ्तार

    गुवाहाटी, 29 नवंबर (आईएएनएस)। असम में आठ और रोहिंग्या मुसलमानों के असम में गिरफ्तार होने के साथ ही 22 म्यांमार की महिलाओं और...

    Recent Comments