Tuesday, November 24, 2020
More
    Home Politics पेंसिल्वेनिया कोर्ट ने कुछ वोटों की गिनती रोकने के आदेश दिए

    पेंसिल्वेनिया कोर्ट ने कुछ वोटों की गिनती रोकने के आदेश दिए

    न्यूयॉर्क, 7 नवंबर (आईएएनएस)। पेंसिल्वेनिया में डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडन के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से आगे निकलने के बाद राज्य की एक अदालत ने चुनाव अधिकारियों को कुछ वोटों की गिनती रोकने के आदेश दिए हैं।

    यह फैसला शुक्रवार को आया जिसके बाद राज्य में मतदान पूरा करने में देरी हो सकती है, जहां जीत बाइडन को राष्ट्रपति पद दे सकती है।

    यह आदेश तथाकथित प्रोविजनल मतपत्रों पर लागू होता है, एक दूसरा मत जिसे डाक मतपत्रों में त्रुटियों को सुधारने के लिए कुछ मतदाताओं को चुनाव के दिन मतदान करने की अनुमति थी, जिसे वे (डाक मतपत्र) पहले ही भेज चुके थे।

    रिपब्लिकन पार्टी के सदस्यों द्वारा दायर मामले पर फैसला करते हुए, अदालत ने कहा कि इस तरह के मतपत्रों को अलग से रखा जाना चाहिए, लेकिन इस बात को खारिज कर दिया कि उन्हें एकमुश्त रिजेक्ट नहीं कर सकते।

    फिलाडेल्फिया इन्क्वायरर के अनुसार, लगभग 100,000 प्रोविजनल मतपत्र डाले गए थे, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि उनमें से कितने अदालत के आदेश द्वारा कवर किए गए थे।

    एक अन्य राज्य को रिपब्लिकन पार्टी के मामले में संघीय सुप्रीम कोर्ट को देर से पहुंचने वाले डाक मतपत्रों की गिनती को रोकने के लिए कहा गया है।

    पार्टी ने गुरुवार को अदालत से राज्य में चुनाव अधिकारियों को चुनाव के दिन के बाद प्राप्त मतपत्रों को अलग रखने और उन पर कार्रवाई नहीं करने के आदेश की मांग की।

    राज्य की एक अदालत ने डाक मतपत्रों को प्राप्त करने की समय सीमा शुक्रवार शाम 5 बजे तक बढ़ा दी थी।

    बुधवार को ट्रंप राज्य में लगभग 200,000 वोटों के साथ बाइडन से आगे चल रहे थे लेकिन फिर शुक्रवार दोपहर को बाइडन 13,000 वोटों से ट्रंप से आगे निकल गए, जब रिपब्लिकन ने चुनौती दी।

    अगर बाइडन पेंसिल्वेनिया जीत जाते हैं तो राष्ट्रपति पद जीतने के लिए उनके पास 270 से अधिक इलेक्टोरल वोट होंगे।

    पॉपुलर वोटों के बजाय, राज्य प्रतिनिधियों के इलेक्टोरल वोट निर्धारित करते हैं कि कौन राष्ट्रपति होगा।

    पेंसिल्वेनिया की स्टेट सेक्रेटरी कैथी बुकवर ने गुरुवार को कहा कि देर से पहुंचने वाले वोटों को अलग रखा जा रहा है, लेकिन उनकी गिनती की जा सकती है।

    वीएवी-एसकेपी



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    दलित हत्या का मामला : गुजरात को जवाब दाखिल करने का सुप्रीम मौका

    नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार को गुजरात सरकार को एक दलित व्यक्ति की हत्या के मामले में एक आरोपी...

    द्रमुक ने तमिलनाडु के सीएम को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी

    चेन्नई, 23 नवंबर (आईएएनएस)। तमिलनाडु की मुख्य विपक्षी पार्टी द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) ने सोमवार को राज्य की पुलिस और मुख्यमंत्री के. पालानीस्वामी...

    ट्रेनों को रोकने का यूनियन का फैसला किसान हितों के खिलाफ : अमरिंदर

    चंडीगढ़, 23 नवंबर (आईएएनएस)। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने एक किसान यूनियन के उस फैसले पर गंभीर चिंता व्यक्त की है, जिसमें...

    डॉक्टर और 2 अन्य के खिलाफ अवैध रूप से बच्चा गोद लेने का मामला दर्ज

    गुरुग्राम, 23 नवंबर (आईएएनएस)। साइबर सिटी गुरुग्राम के सेक्टर 56 में एक निजी क्लिनिक चलाने वाले एक डॉक्टर और एक दंपति के खिलाफ...

    Recent Comments