Friday, November 27, 2020
More
    Home Education नेशनल ब्रॉडबैंड मिशन से आसान होगी ऑनलाइन पढ़ाई

    नेशनल ब्रॉडबैंड मिशन से आसान होगी ऑनलाइन पढ़ाई

    डिजिटल डेस्क, लखनऊ। उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में रहने वाले छात्रों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई की राह आसान होगी। प्रदेश की योगी सरकार नेशनल ब्रॉडबैंड मिशन योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले छात्र-छात्राओं को बड़ी राहत देने जा रही है। इससे इंटरनेट की खराब कनेक्टिविटी की वजह से ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। अगले पांच महीनों में उत्तर प्रदेश सरकार 45 हजार ग्राम सभाओं को हाईस्पीड इंटरनेट से जोड़ने जा रही है। इससे छात्र-छात्राएं उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से शुरू की गई डिजिटल लाइब्रेरी का लाभ उठा सकेंगे। वे पढ़ाई के लिए कंटेंट को आसानी से डाउनलोड कर सकेंगे।

    उत्तर प्रदेश में 16 राज्यस्तरीय, एक मुक्त, 27 निजी विश्वविद्यालय और एक डीम्ड विश्वविद्यालय है। इसके अलावा 170 शासकीय, 331 अशासकीय महाविद्यालय समेत 7183 निजी महाविद्यालय है। इनमें 1969206 छात्र और 2214786 छात्राएं पढ़ रही हैं। उच्च शिक्षा अधिकारी आलोक श्रीवास्तव बताते हैं कि देश की 70 प्रतिशत आबादी गांवों में निवास करती हैं। ऐसे में ग्रामीण परिवेश से महाविद्यालय व विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले छात्रों की संख्या 60 प्रतिशत से कम नहीं होगी। गांव में हाईस्पीड इंटरनेट सेवा उनके लिए किसी वरदान से कम नहीं होगी।

    नेशनल ब्रॉडबैंड मिशन योजना के तहत उत्तर प्रदेश सरकार मार्च, 2021 यानी अगले पांच महीनों में योजना के पहले चरण में सरकार 620 ब्लॉकों की 45 हजार से अधिक ग्राम पंचायतों में हाई स्पीड इंटरनेट सेवा को उपलब्ध कराएगी। सरकार की ओर से शुरू की जा रही नेशनल ब्रॉडबैंड योजना से ग्रामीण छात्रों को काफी फायदा होगा। कोरोना संकट को देखते हुए यूजीसी ने भी अभी हाल में छात्रों को पाठ्यक्रम का 20 प्रतिशत कंटेंट ऑनलाइन पढ़ाए जाने के निर्देश दिए हैं। इससे निश्चित ही छात्रों को सरकार की ओर से एक बड़ा तोहफा दिया जा रहा है।

    उत्तर प्रदेश प्राविधिक विश्वद्यिलाय के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक बताते हैं कि विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले करीब 65 प्रतिशत छात्र ग्रामीण परिवेश से हैं। नेशनल ब्रॉडबैंड योजना से जब गांवों में तेज रफ्तार इंटरनेट पहुंचेगा तो ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान आ रहीं उनकी दिक्कतें दूर होंगी। इस योजना से युवाओं के एक बड़े तबके को राहत मिलेगी।

    प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने अभी हाल ही में छात्रों को बेहतर ऑनलाइन शिक्षा देने के लिए डिजिटल लाइब्रेरी की शुरुआत की है। प्रदेश सरकार की डिजिटल लाइब्रेरी में 23 राज्य विश्वविद्यालयों के लगभग 1,700 शिक्षक ने विज्ञान, वाणिज्य समेत कई कई विषयों पर 53,000 से अधिक ई-सामग्री सामग्री अपलोड की है। इस कंटेंट को छात्र मुफ्त में डाउनलोड करके पढ़ाई कर सकते हैं। नेशनल ब्रॉडबैंड योजना से ग्रामीण परिवेश के छात्र आसानी से इस कंटेंट को डाउनलोड कर सकेंगे।



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    सऊदी के डिजिटल सहयोग पहल में शामिल हुआ पाकिस्तान

    इस्लामाबाद, 27 नवंबर (आईएएनएस)। विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने घोषणा की कि सऊदी के नेतृत्व वाली पहल डजिटल सहयोग संगठन (डीसीओ) में...

    एनआईए को मिली पीडीपी नेता वाहीद पारा की 15 दिन की कस्टडी

    नई दिल्ली/श्रीनगर, 27 नवंबर (आईएएनएस)। पूर्व पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) दविंदर सिंह और हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी नवीद बाबू के मामले की जांच के...

    आस्ट्रेलिया के खिलाफ नाकाम रहे भारतीय गेंदबाज

    सिडनी, 27 नवंबर (आईएएनएस)। भारतीय गेंदबाजों से ऑस्ट्रेलिया में जिस तरह के प्रदर्शन की उम्मीद थी वह शुक्रवार को पहले वनडे में तो...

    Recent Comments