Saturday, November 28, 2020
More
    Home International प्रदूषण को काबू में करने के लिए चीन सक्रिय

    प्रदूषण को काबू में करने के लिए चीन सक्रिय

    बीजिंग, 7 नवंबर (आईएएनएस)। पिछले कुछ वर्षों से चीन में प्रदूषण की समस्या पर काबू पाने और पर्यावरण संरक्षण को लेकर बहुत ध्यान दिया गया है। सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयासों से बीजिंग सहित कई प्रमुख महानगरों में प्रदूषण की स्थिति में व्यापक सुधार हुआ है। अब चीनी नागरिक अकसर नीले आसमान और स्वच्छ हवा का आनंद उठाते हैं। बीजिंग की बात करें तो पहले यहां कोयला आधारित हीटिंग सिस्टम था, जिससे पूरे महानगर को हीटिंग की सप्लाई होती थी। लेकिन संबंधित एजेंसियों ने कोयला संचालित प्लांट्स को पूरी तरह बंद करवा दिया है। इसके बदले बिजली से हीटिंग की व्यवस्था की जाती है।

    चीन द्वारा लगातार पर्यावरण संरक्षण को तवज्जो दी जा रही है। इसका नतीजा हमने यहां पर रहते हुए देखा है। इस बीच पारिस्थितिकी और पर्यावरण मंत्रालय ने उत्तरी चीन में वायु प्रदूषण के प्रमुख उत्सर्जकों को चरणबद्ध तरीके से खत्म करने के लिए एक नयी कार्ययोजना जारी की है। इसका मकसद सर्दियों के दिनों में भारी प्रदूषण वाले दिनों को साफ दिनों में बदलना है।

    यहां बता दें कि साल 2017 के बाद चीन सरकार हर वर्ष इस संबंध में योजना पेश करती है। इस योजना के तहत प्रदूषण की मार झेलने वाले उत्तरी चीन के बीजिंग-थ्यानचिन-हबेई प्रांत व फनवेई मैदानी क्षेत्र, शांक्सी, शानक्सी और हनान आदि प्रांतों को कवर किया जाता है। माना जाता है कि इन इलाकों में ही सबसे अधिक पीएम 2.5 के कणों का औसत घनत्व 2.5 माइक्रोन से कम होता है जो कि फेफड़ों के लिए बहुत घातक होता है। इस बार की योजना में भारी प्रदूषण वाले दिनों को प्रभावी ढंग से कम करना सर्वोच्च प्राथमिकता होगा।

    उक्त मंत्रालय के प्रवक्ता लियो योपिन ने पिछले दिनों मीडिया से बातचीत में कहा कि यह बदलाव आम लोगों की राय के आधार पर किया गया। लोगों की शिकायत थी कि वे अन्य प्रदूषण संबंधी परेशानियों से ज्यादा प्रदूषण वाले दिनों में ज्यादा त्रस्त रहते हैं। इसके चलते सरकार ने भारी प्रदूषण वाले दिनों को स्वच्छ बनाने पर जोर दिया है।

    यहां बता दें कि चीन ने पर्यावरण प्रदूषण से निपटने के लिए सख्त उपाय किए हैं। उदाहरण के लिए, इलेक्ट्रिक वाहनों को तरजीह दी जा रही है, अब चीन के कई शहरों में चलने वाली सार्वजनिक बसें बैट्री चालित होने लगी हैं। वहीं समय-समय पर वृक्षारोपण पर भी जोर दिया जाता है। यहां तक कि नए पार्कों और कृत्रिम झीलों का निर्माण किया गया है।

    गौरतलब है कि चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग बार-बार स्वच्छ हवा, साफ पानी और नीले आसमान का उल्लेख करते हैं। इस पर चीन के संबंधित विभाग व एजेंसियां तत्परता से अमल भी कर रही हैं।

    (साभार—चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण बंगाल की खाड़ी में बन रहा कम दबाव का क्षेत्र

    अमरावती, 27 नवंबर (आईएएनएस)। चक्रवात निवार के प्रभाव में आने से पहले ही हिंद महासागर और उससे सटे अंडमान सागर में एक और...

    दिल्ली चलो आंदोलन के बीच सच्ची पंजाबी भावना

    चंडीगढ़, 27 नवंबर (आईएएनएस)। दुनिया भर के आपदा प्रभावित क्षेत्रों और नागरिक संघर्ष क्षेत्रों में मानवीय सहायता प्रदान करने वाली पंजाबी भावना अब...

    शादी सामारोह में पीपीई किट पहन नाचा शख्स, वीडियो वायरल

    जयपुर, 27 नवंबर (आईएएनएस)। सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें होम आइसोलेशन रहने वाले एक आदमी को...

    केरल के मामलों में महज अपना काम कर रही हैं केंद्रीय एजेंसियां : मुरलीधरन

    तिरुवनंतपुरम, 27 नवंबर (आईएएनएस)। केंद्रीय मंत्री वी. मुरलीधरन ने शुक्रवार को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्‍सवादी (माकपा) के राज्य सचिव ए. विजयराघवन पर पटलवार किया,...

    Recent Comments