Sunday, December 6, 2020
More
    Home Politics बिहार चुनाव में जदयू से करीब दोगुनी सीट जीतेगी भाजपा, राजग को...

    बिहार चुनाव में जदयू से करीब दोगुनी सीट जीतेगी भाजपा, राजग को मिलेंगी 116 सीटें

    नई दिल्ली, 7 नवंबर (आईएएनएस)। बिहार में शनिवार को तीसरे और आखिरी चरण का मतदान पूरा हो गया है। आईएएनएस-सीवोटर बिहार एग्जिट पोल के अनुसार, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और कांग्रेस व राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेतृत्व वाले महागठबंधन में से किसी को भी पूर्ण बहुमत मिलता दिखाई नहीं दे रहा है।

    आईएएनएस-सीवीओटर बिहार एग्जिट पोल के नतीजों में सामने आया है कि प्रदेश में एंटी इनकंबेंसी का फैक्टर जरूर रहा है, क्योंकि राजग बिहार विधानसभा में महज 116 सीटें ही हासिल कर पाएगी। इसके अलावा महागठबंधन को 120 सीटें मिलने की उम्मीद है।

    नीतीश कुमार की जनता दल-युनाइटेड (जदयू) को इस बार सिर्फ 42 सीटें मिलती दिख रही हैं। यानी प्रदेश में एंटी इनकंबेंसी का असर साफतौर पर देखा जा सकता है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि का फायदा उठाने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को भी महज 70 सीटें ही मिलती दिखाई दे रही हैं।

    राजग के अन्य दो गठबंधन सहयोगियों हम (एस) और वीआईपी को दो सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है।

    वहीं महागठबंधन को राजग से कुछ सीटों का फायदा ही मिलता नजर आ रहा है और उसे 120 सीटें मिलने की संभावना है। महागठबंधन कांग्रेस का खामियाजा भुगतता नजर आ रहा है, जो पिछली बार की तुलना में ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ी, लेकिन उसे सिर्फ 25 सीटें मिलने की उम्मीद है।

    आईएएनएस-सीवोटर बिहार एग्जिट पोल के मुताबिक, तेजस्वी यादव, जिन्होंने इस चुनाव में बेरोजगारी को मुद्दा बनाया था, उनकी पार्टी राजद को 85 सीटें मिलने का अनुमान है।

    महागठबंधन के छोटे दलों की बात की जाए तो इन्हें 10 सीटें मिलने की उम्मीद है। इन वामपंथी दलों की ओर से राजद की पीठ पर सवार होकर प्रभावशाली स्कोर प्राप्त करने की संभावना है, जहां सीपीआई-माले को छह सीटें मिलने की संभावना है, जबकि भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्‍सवादी (माकपा) और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) को दो-दो सीटें मिलने की संभावना है।

    वहीं राजग गठबंधन से अलग लड़ने वाली लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) बुरी तरह विफल होती दिखाई दे रही है। लोजपा को महज एक सीट मिलने की संभावना है।

    इसके अलावा राज्य की छह सीटें अन्य के खाते में जाने की संभावना है। एक त्रिशंकु विधानसभा परिदृश्य में उनकी भूमिका महत्वपूर्ण होने वाली है।

    एकेके/एएनएम



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    कोविड-19: CBSE छात्र बनेंगे स्मार्ट, जारी होगा डिजिटल एडमिट कार्ड

    डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में बैठने वाले छात्रों के लिए इस बार डिजिटल एडमिट कार्ड जारी किए...

    दिल्ली: नए संसद भवन की तस्वीर आई सामने, लोकसभा में होंगी 800 से ज्यादा सीटें, 10 दिसंबर को पीएम मोदी करेंगे भूमिपूजन

    डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और...

    Farmer Protest: किसानों और सरकार के बीज पांचवीं बैठक भी बेनतीजा, 9 को फिर होगी वार्ता, कृषि मंत्री बोले- जारी रहेगी MSP, इसे कोई...

    डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन लगातार 10वें दिन शनिवार को भी जारी रहा। वहीं सरकार...

    चहल को बतौर कनकशन सब्स्टीट्यूट लाना भारत का सही फैसला : कुंबले

    बेंगलुरु, 5 दिसंबर (आईएएनएस)। आस्ट्रेलिया के खिलाफ शुक्रवार को खेले गए पहले टी-20 मैच में रवींद्र जडेजा की जगह कनकशन सब्स्टीट्यूट के रूप...

    Recent Comments