Tuesday, November 24, 2020
More
    Home International US Election 2020: बाइडेन-हैरिस ने जीता अमेरिका चुनाव, ट्रंप समर्थकों ने किया...

    US Election 2020: बाइडेन-हैरिस ने जीता अमेरिका चुनाव, ट्रंप समर्थकों ने किया विरोध प्रदर्शन

    डिजिटल डेस्क, वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन और उनके साथ मैदान में उतरीं कमला हैरिस को विजेता घोषित किए जाने के बाद जमकर विरोध प्रदर्शन किया। 2020 के राष्ट्रपति चुनाव के परिणामों का विरोध करते हुए ट्रंप समर्थक देश भर में सड़कों पर उतर आए।

    4 दिन तक धीमी रफ्तार से चली मतगणना के बाद 77 वर्षीय बाइडेन ने ट्रंप को हराकर अमेरिका में एक महान राजनीतिक पारी की शुरूआत की है। लगभग 160 साल पहले इसी समय के आसपास अब्राहम लिंकन अमेरिकी राष्ट्रपति चुने गए थे।

    शनिवार को सुबह करीब 11.30 बजे (स्थानीय समय) उस समय बाइडेन की जीत दर्ज हुई, जब एनबीसी, बीबीसी और द वाशिंगटन पोस्ट ने कहा कि पेन्सिलवेनिया बाइडेन की हुई। द हिल न्यूज वेबसाइट के मुताबिक, इस घोषणा के तुरंत बाद राष्ट्रपति के समर्थक जॉर्जिया, मिशिगन और विस्कॉन्सिन राज्यों में सड़कों पर उतर आए।

    अटलांटा में जॉर्जिया राज्य कैपिटल के सामने कम से कम 200 प्रदर्शनकारी इकट्ठा हो गए। जॉर्जिया पारंपरिक रूप से रिपब्लिकन राज्य माना जाता है, यहां ट्रंप समर्थकों ने नारे लगाए। इसी तरह हैरिसबर्ग, पेन्सिलवेनिया में भी विरोध प्रदर्शन किए गए और ट्रंप समर्थकों ने चोरी बंद करो जैसे नारे लगाए। परिणाम का विरोध करने के लिए मैडिसन, विस्कॉन्सिन में भी प्रदर्शनकारी एकत्रित हुए। सलेम, ओरेगन में, सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने ओरेगन स्टेट कैपिटल के बाहर रैली की।

    मिशिगन में प्रदर्शनकारी एक साथ प्रार्थना कर रहे थे, उन्हें विश्वास नहीं था कि वह हार गए थे। उन्होंने चुनाव परिणामों की वैधता पर संदेह जताया। बता दें कि अभी जॉर्जिया, एरिजोना, पेन्सिलवेनिया, अलास्का और उत्तरी कैरोलाइना में वोटों की गिनती जारी है। इनमें से अलास्का और उत्तरी कैरोलाइना में ट्रंप आगे हैं।

    राष्ट्रपति ने बाइडेन की जीत को मानने से इनकार कर दिया है और अपने एक ट्वीट में कहा है, ऑब्जर्वरों को काउंटिंग रूम में शामिल नहीं किया गया है। मैं चुनाव जीत गया, मुझे कानूनी तौर पर 71 लाख वोट मिले हैं। लेकिन हमारे ऑब्जर्वरों को देखने की अनुमति नहीं दी गई, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ, मेल के जरिए लाखों ऐसे लोगों को मतपत्र भेजे गए, जिन्होंने कभी इनकी मांग ही नहीं की थी।



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    Conversation on corona: कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित आठ राज्यों के CM के साथ PM मोदी की अहम बैठक आज

    डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और...

    दलित हत्या का मामला : गुजरात को जवाब दाखिल करने का सुप्रीम मौका

    नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार को गुजरात सरकार को एक दलित व्यक्ति की हत्या के मामले में एक आरोपी...

    द्रमुक ने तमिलनाडु के सीएम को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी

    चेन्नई, 23 नवंबर (आईएएनएस)। तमिलनाडु की मुख्य विपक्षी पार्टी द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) ने सोमवार को राज्य की पुलिस और मुख्यमंत्री के. पालानीस्वामी...

    ट्रेनों को रोकने का यूनियन का फैसला किसान हितों के खिलाफ : अमरिंदर

    चंडीगढ़, 23 नवंबर (आईएएनएस)। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने एक किसान यूनियन के उस फैसले पर गंभीर चिंता व्यक्त की है, जिसमें...

    Recent Comments