Saturday, March 6, 2021
More
    Home Cricket  INDvENG: पहला टेस्ट शुरू होते ही बने ये रिकॉर्ड, काले रंग की...

     INDvENG: पहला टेस्ट शुरू होते ही बने ये रिकॉर्ड, काले रंग की पट्टी कलाई पर बांध खेल रहे हैं इंग्लैंड के खिलाड़ी 


    डिजिटल डेस्क ( भोपाल)। अपने करियर का 100वां टेस्ट मैच खेल रहे इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने यहां के एमए चिदम्बरम स्टेडियम में मेजबान भारत के साथ शुक्रवार से शुरू हुए पहले टेस्ट मैच में टॉस जीतकर बैटिंग करने का फैसला किया है। दोनों टीमों के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जा रही है। इसके दो शुरुआती मुकाबले चेन्नई में होंगे, जबकि बाकी के दो मैच अहमदाबाद में खेले जाएंगे। दोनों टीमों के हौसले बुलंद हैं। लेकिन मैच शुरू होते ही कई रिकार्ड बने हैं और कई परिवर्तन भी देखने को मिले हैं। आइए, मैच एक नजर डालते हैं पहले टेस्ट से जुड़े कुछ खास रिकार्ड से … 

    टेस्ट मैचों का सैकड़ा लगाने वाले तीसरे सबसे युवा खिलाड़ी बने रूट

    इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान जो रूट शुक्रवार को अपने 100वें टेस्ट के लिए यहां के एमए चिदम्बरम स्टेडियम में उतरे। रूट 100 टेस्ट खेलने वाले तीसरे सबसे युवा खिलाड़ी बन गए हैं। रूट 15वें ऐसे इंग्लिश क्रिकेटर हैं, जिन्होंने टेस्ट मैचों का सैकड़ा पूरा किया है। चेन्नई टेस्ट के पहले दिन रूट की उम्र 30 साल 37 दिन है। टेस्ट इतिहास में सबसे कम उम्र में 100वां टेस्ट खेलने का रिकार्ड इंग्लैंड के ही पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक के नाम है, जिन्होंने साल 2013 में 28 साल 353 दिनों की उम्र में 100वां टेस्ट खेला था।

    कुक ने इंग्लैंड के लिए सबसे अधिक 161 टेस्ट खेले। इसके बाद भारत के सचिन तेंदुलकर का नाम है। सचिन ने साल 2002 में 29 साल 134 दिन की उम्र में अपना 100वां टेस्ट खेला था। सचिन ने साल 2013 में अपने करियर का 200वां टेस्ट भी खेला था। इस मुकाम पर पहुंचने वाले वह एकमात्र टेस्ट क्रिकेटर हैं। सचिन 2013 में ही रिटायर हुए थे।

    बुमराह ने श्रीनाथ का रिकार्ड तोड़ा

    भारत के स्ट्राइकर फास्ट बॉलर जसप्रीत बुमराह शुक्रवार से यहां के एमए चिदम्बरम स्टेडियम में इंग्लैंड के साथ शुरू हुई टेस्ट सीरीज में अपने करियर का 18वां मैच खेल रहे। यह अपने घर में बुमराह का पहला टेस्ट है। बुमराह ने इससे पहले घर में कभी टेस्ट नहीं खेला। वह विदेशों में सबसे अधिक टेस्ट खेलने के बाद घर में टेस्ट खेलने का रिकार्ड अब अपने नाम कर चुके हैं। पहले यह रिकार्ड एक अन्य फास्ट बॉलर जवागल श्रीनाथ के नाम था, जिन्होंने अपने डेब्यू के बाद से 12 टेस्ट विदेश में खेल और फिर जाकर उन्हें घर में खेलने का मौका मिला।

    इस क्रम में रुद्र प्रताप सिंह (11), सचिन तेंदुलकर (10) और आशीष नेहरा (10) के भी नाम हैं। बुमराह की बात की जाए तो उन्होंने पांच जनवरी 2018 को न्यूलैंड्स में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ डेब्यू किया था। बीते महीने वह भारत के आस्ट्रेलिया दौरे का हिस्सा थे। वह सिडनी टेस्ट में खेले थे लेकिन चोट के कारण ब्रिस्बेन टेस्ट में नहीं खेल सके थे। बुमराह ने 17 टेस्ट मैच मैचों में अब तक 21.59 के औसत से कुल 79 विकेट लिए हैं। वह पांच मौकों पर पारी में पांच विकेट ले चुके हैं और एक पारी में 6-27 उनका अब तक का सर्वश्रेष्ट बॉलिंग एनालसिस रहा है।

    अक्षर पटेल चोट के कारण पहले टेस्ट से बाहर, नदीम और चाहर टीम में

    ऑलराउंडर अक्षर पटेल चोट के कारण इंग्लैंड के साथ यहां के एमए चिदम्बरम स्टेडियम में जारी पहले टेस्ट से बाहर हो गए हैं। बीसीसीआई ने मैच से ठीक पहले यह जानकारी साझा की। अक्षर की जगह स्पिनर शाहबाज नदीम और तेज गेंदबाज राहुल चाहर को टीम में शामिल किया गया। नदीम को अंतिम रूप से प्लेइंग-11 में शामिल किया गया। वह डेब्यू कर रहे हैं।

    बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने एक बयान जारी कर कहा कि अक्षर पटेल गुरुवार को टीम इंडिया के वैकल्पिक प्रशिक्षण सत्र के दौरान अपने बाएं घुटने में दर्द की शिकायत की। बीसीसीआई मेडिकल टीम द्वारा उनकी निगरानी की जा रही है और जब उनकी विस्तृत रिपोर्ट की प्रतीक्षा की जा रही है, तो वह पहले टेस्ट के लिए उपलब्ध नहीं होंगे। इससे पहले आस्ट्रेलिया के साथ हुई सीरीज में भी भारतीय टीम के कई खिलाड़ी चोटिल होने की वजह से टीम से बाहर हो गए थे। 

    टॉम मूर की याद में इंग्लिश खिलाड़ियों ने बांधी काली पट्टी    

    इंग्लैंड क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों ने दिग्गज वॉर वेटरन कैप्टन टॉम मूर की याद में एमए चिदंबरम स्टेडियम में शुक्रवार से भारत के खिलाफ शुरु हुए पहले टेस्ट में काले रंग की पट्टी अपनी कलाई पर बांधी। ब्रिटिश सेना के दिग्गज 100 वर्षीय मूर ने पिछले साल कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए ब्रिटेन की स्वास्थ्य सेवा में मदद करने के लिए लाखों पाउंड जुटाए थे। मंगलवार को कोरोनोवायरस के कारण उनका निधन हो गया।

    जो रूट और उनके साथियों ने राष्ट्र गान के लिए एकत्रित होने से पहले काली पट्टी पहनी और फिर मैदान में पहुंचे। रूट ने ईसीबी द्वारा साझा किए गए वीडियो में कहा था, यह वास्तव में दुखद खबर है। मुझे पिछले साल की शुरूआत में उनसे बात करने का मौका मिला था। मुझे यकीन है कि उनके परिवार को उस विरासत पर बेहद गर्व होगा जो वह छोड़ गए हैं।



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    Recent Comments