Thursday, March 4, 2021
More
    Home International America: डोनल्ड ट्रंप के खिलाफ दूसरे महाभियोग की सुनवाई शुरू हुई, डेमोक्रेटिक...

    America: डोनल्ड ट्रंप के खिलाफ दूसरे महाभियोग की सुनवाई शुरू हुई, डेमोक्रेटिक सांसद बोले- ‘दिल दहलाने वाला सबूत देंगे’

    डिजिटल डेस्क, वॉशिंगटन। अमेरिका की सीनेट में पूर्व राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई शुरू हो गई है। ये दूसरी बार है जब ट्रंप पर महाभियोग चल रहा है। अमेरिका के इतिहास में ये पहली बार है जब राष्ट्रपति पद पर रहे किसी व्यक्ति को महाभियोग का दो बार सामना करना पड़ा हो। सीनेट में कार्यवाही चलाए जाने के लिए 228 सांसदों ने जबकि विपक्ष में 193 सांसदों ने वोट दिया था। सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है वहीं प्रतिनिधि सभा ने सात महाभियोग प्रबंधकों की नियुक्ति भी की है जो इसकी पैरवी कर रहे हैं। 

    बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार महाभियोग की सुनवाई के दौरान टिप्पणी करते हुए डेमोक्रेटिक नेता और सीनेटर चक शूमर ने कहा कि ट्रंप किसी राष्ट्रपति पर लगाए गए सबसे गंभीर आरोपों का सामना कर रहे हैं। ट्रंप पर राष्ट्र के खिलाफ विद्रोह भड़काने के आरोप लगाए गए थे। सीनेटरों ने ट्रंप समर्थकों के कैपिटल बिल्डिंग पर हमले का वीडियो भी देखा गया। बता दें कि राष्ट्रपति ट्रंप के प्रेरित करने के कुछ देर बाद ही उनके समर्थकों ने सदन पर हमला बोल दिया था।

    ट्रंप के वकीलों का तर्क
    ट्रंप के वकील केन स्टार, ऐलेन डर्शोविट्स और रॉबर्ट रे हैं जो उनका पक्ष रख रहे हैं। बता दें, केन स्टार और रॉबर्ट रे ने बिल क्लिंटन के महाभियोग मामले की भी जांच की थी। ट्रंप के वकीलों का तर्क है कि जिन लोगों ने कैपिटल बिल्डिंग पर हमला किया, सिर्फ वही दंगे के जिम्मेदार हैं। इस हिंसा में पांच लोगों की मौत हो गई थी। वकीलों का ये भी तर्क है कि एक पूर्व राष्ट्रपति पर महाभियोग नहीं चलाया जा सकता है। ऐसा करना संवैधानिक रूप से सही है या नहीं, इस पर जल्द ही मतदान होगा।

    रिपब्लिनक सांसद बोले- 6 जनवरी की रात बुरे सपने की तरह
    रिपब्लिकन प्रतिनिधि जो नेग्यूस ने महाभियोग के मुकदमे का समर्थन करते हुए सीनेटरों के लिए अपनी अंतिम याचिका सौंप दी। उन्होंने कहा कि आप में से हर एक की तरह, मैं भी 6 जनवरी को कैपिटल में था। मैं लीड मैनेजर रस्किन के साथ फर्श पर था। उन्होंने कहा कि उस दिन आपने क्या अनुभव किया, उस दिन हमने क्या अनुभव किया, उस दिन हमारे देश ने जो अनुभव किया, वह जीवन में सबसे बुरे सपने जैसा है।



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    Recent Comments