Sunday, March 7, 2021
More
    Home Crime गैस एजेंसी संचालक के 17 वर्षीय बेटे का अपहरण का प्रयास -...

    गैस एजेंसी संचालक के 17 वर्षीय बेटे का अपहरण का प्रयास – चारों आरोपी गिरफ्तार

    डिजिटल डेस्क जबलपुर । थाना संजीवनी नगर में आज अपरांह एक गैस एजेंसी संचालक के 17 वर्षीय बेटे का अपहरण करने का असफल प्रयास किया । लड़के ने विरोघ करते हुए जोर की आवाज लगाई और बेटे  कीआवाज सुनकर छत पर खड़ी उसकी माँ ने जब जोर जोर से चिल्लाकर लोगों से बचाने की आवाज लगाई तो आरोपी भाग खड़े हुए । सूचना मिलते ही पुलिस ने खेराबंदी कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया । पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार  सुजल कुसरे उम्र 17 वर्ष निवासी एचआईजीसी 96 सामुदायिक भवन के पास धनवंतरीनगर ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि दोपहर लगभग 2-30 बजे डोर वेल बजी, वह गेट के पास पहुंचा उसकी मम्मी  उपर छत की गैलरी पर थी  एक सफेद रंग की बिना नंबर की कार मे पाँच लडके जिनकी उम्र 25 से 30 वर्ष के बीच रही होगी आए , उनमे से तीन लडके कार से उतरे तथा बोले की पापा से बात हो गई है, जो स्कार्पियो गाड़ी बेच रहे हो वह दिखा दो, तो उसने स्कार्पियों दिखाई, स्कार्पियो देखकर वे लोग गेट के बाहर निकले,  वह भी गेट के बाहर तक उनको छोडने गया, तो कार मे बैॅठा एक लडका उसे मोबाईल देकर बोला कि कार में बैठकर इसमें अपनी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नम्बर लिख देा मुझे चैक करना है । वह कार में नहीं बैठा बाहर खड़े, खड़े मोबाईल में रजिस्ट्रेशन नम्बर डालने लगा, तभी कार के बाजू मे खडे दो लडके उसे धक्का देकर कार मे बैठाने लगे, वह जोर से चिल्लाया तो उसकी मम्मी भी छत से चिल्लाने लगी, उसी समय जूसजा सिटी की ओर से आ रहे होमगार्ड पाण्डे अंकल भी चिल्लाये तो दोनों लोग कार मे बैठक गये और सभी तेजी से कमेटी हाल वाली रोड की तरफ भाग गये।
    पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच प्रारंभ की तो   लड़के  के पिता संदीप कुसरे ने पूछताछ पर बताया कि उसने अपनी पुरानी स्कार्पियो  बेचने की चर्चा तीन लोगो से की थी, 10 मिनिट पहले एक अननोन नम्बर से गाड़ी देखने के लिये फोन आना बताया, तीनों लोगों से पूछताछ की गयी, दौरान पूछताछ के  लकी  सिंह राजपूत  के मोबाईल पर उक्त अननोन नम्बर का मिस्ड कॉल आना पाया गया।  संदेही लकी सिंह राजपूत से  कडाई से पूछताछ की गयी तो लकी सिंह राजपूत ने बताया कि  उसकी स्वयं की गो गैस के नाम पर गैस एजेन्सी बजरंग नगर पानी की टंकी के पास है,  जहॉ उसका स्वयं का आफिस भी है, उसके  पिता श्री इंदर सिंह राजपूत करीवन 30 साल से संदीप गैस एजेन्सी समीक्षा टाउन कांचघर में प्रायवेट नौकरी करते हैं, जिनके मालिक संदीप कुसरे हैं  जो धनवंतरी नगर में निवास करते हैं । चूँकि उसकी एजेन्सी में कामर्सियल सिलेण्डर का ही व्यवसाय है जो कोरोना महामारी के दौरान हुये लॉक डॉउन में घाटे में जाने के कारण उस पर अपने कर्मचारियों को वेतन बांटने के लिये लगभग पांच लाख रुपये का कर्ज हो गया था जिसको व्यवसाय से पटा पाना संभव नहीं हो पा रहा था तो उसने अपने घर को गिरवी रखकर बाजार से लिया गया उधारी का पैसा पटा दिया था । लेकिन वह अपने घर को गिरवी रखने की राशि व्यवसाय से नहीं पटा पा रहा था,  इसी दौरान संदीप कुसरे अंकल से उसे मालूम पडा कि वे अपनी पुरानी स्कार्पियों गाडी बेंचना चाह रहें है तो उसने अंकल से पूछा आप गाडी कितने में बेंचेगें तो उन्होने 3 लाख रुपये कीमत बतायी थी,  तो उसने कुछ लोगों से उनकी  स्कार्पियो को खरीदने के संबंध में बातचीत करते हुये 4 लाख रुपये कीमत बतायी थी। इसी दौरान आज से करीव 02 माह पूर्व वह अपने साथी गोविन्द कोल व आनंद दाहिया के साथ संदीप कुसरे अंकल जी से बातचीत करके उनके घर अपनी मोटर सायकल बजाज प्लेटिना से स्कार्पियो देखने गया था  उनके लडके सुजल जिसे वह जानता है, के द्वारा  उसे घर में खडी स्कार्पियों दिखाई गई थी । वह उनकी स्कार्पियो  देखकर अपने साथियों के साथ घर वापस आ गया था । स्कार्पियो देखने के 02-03 दिन बाद उसकेे मन मे विचार आया कि यदि मैं संदीप अंकल के लडके सुजल को किडनैप कर पचास लाख रुपये की फिरौती मागूंगा तो पैसे मिल जायेगें जिससे उसके सारे काम हो जायेगें, उसने अपने मन में आये विचार को मित्र गोविन्द कोल व आनंद दाहिया को बताया तो दोनो ने उसके विचार से सहमत होकर अपनी रजामंदी दी । 17 फरवरी 2021 को हम तीनों गोविन्द के चचेरे भाई रिंकू गोंटिया की इनोवा गाडी किराये पर लेकर धनवंतरी नगर में संदीप अंकल के घर गये थे, जहॉ फिर से हमने स्कार्पियों गाडी देखी थी जो उनके लडके सुजल ने दिखाई थी ,लेकिन उस दिन संदीप अंकल के घर पर ज्यादा लोग थे इसलिये हम लोग गाडी देखकर वापस आ गये , हमे ऐसा लगा कि हम तीन लोग संदीप अंकल के लडके सुजल की किडनैपिंग का काम नहीं कर पायेगें तो उसने  तथा आनंद व गोविन्द ने मिलकर अन्य साथी राहुल , सत्यम व शिव पटैल को शामिल करने की योजना अपने ऑफिस में बुलाकर बनायी तथा दिनांक 22-02-2021 को प्लानिंग के अनुसार एक दूसरे से फोन पर चर्चा कर किडनैपिंग को अंजाम देने के लिये हमने दोवारा रिंकू गोटिया की  इनोवा कार को किराये पर लिया जिसका एडवांस उसने नकद 1000/- रुपये एक दिन पहले रिंकू गोटिंया को दे दिया था ।  
    प्लानिंग के अनुसार वह और गोविन्द मोटर सायकिल से तथा  इनोवा में आनंद, राहुल, शिव पटैल व सत्यम  धनवंतरी नगर चैक पहुँचे, दोनों मोटर सायकिल चाय की दुकान के सामने खडी कर  दी  तथा सभी लोग इनोवा में बैठकर आगे जाकर खाली जगह में गाडी लगाकर इनोवा की नम्बर प्लेट निकाल दिये,  वहीं से आनंद ने मोबाईल से संदीप अंकल को फोन लगाकर कहा कि हम जो 17 फरवरी को गाडी देखने आये थे हमारे बडे भैया उसी गाडी को देखने आ रहे हैं , तो संदीप अंकल फोन पर बोले कि मैं घर पर नहीं हूँ  तो हमने सोचा कि यही सही मौका है, अपने काम को पूरा करने के लिये, उसके बाद हम सभी लोग लगभग 02-30 बजे संदीप अंकल के घर स्कार्पियो देखने के बहाने पहुँच गये तथा अपनी इनोवा को संदीप अंकल के घर के सामने लगा दिये, वह  एवं गोविन्द तथा आनंद गाडी में ही बैठे थे,  राहुल, सत्यम व शिव पटैल इनोवा से नीचे उतरे ,राहुल ने डोर वेल बजाया तभी संदीप अंकल का बेटा सुजल घर के बाहर आया, जिससे शिव पटैल बोला आपकी गाडी देखने आये हैं।
    इसके बाद वारदात को अंजाम देने का प्रयास किया जो सफल नहीं हुआ ।
     



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    Recent Comments