Saturday, April 17, 2021
More
    Home Politics क्रिकेटर मनोज तिवारी का पॉलिटिकल डेब्यू, ममता बनर्जी की रैली के दौरान...

    क्रिकेटर मनोज तिवारी का पॉलिटिकल डेब्यू, ममता बनर्जी की रैली के दौरान टीएमसी में शामिल हुए

    डिजिटल डेस्क, कोलकाता। क्रिकेटर मनोज तिवारी ने बुधवार को तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए। तिवारी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की हुगली जिले में रैली के दौरान टीएमसी में शामिल हुए। अपने पॉलिटिकल डेब्यू को लेकर तिवारी ने इंस्टाग्राम पर लिखा, एक नई यात्रा आज से शुरू होगी। आपके प्यार और समर्थन की जरुरत है। इंस्टाग्राम पेज पर अपने बायो में भी उन्होंने पॉलिटिशियन, AITMC लिख दिया है।

    तिवारी ने वनडे इंटरनेशनल और टी 20 फॉर्मेट में भारतीय क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व किया है। वह वर्तमान में घरेलू क्रिकेट में बंगाल का प्रतिनिधित्व करते हैं और इंडियन प्रीमियर लीग में कोलकाता नाइट राइडर्स, किंग्स इलेवन पंजाब और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स के लिए खेल चुके हैं। हावड़ा में जन्मे मनोज तिवारी ने भारतीय क्रिकेट टीम में साल 2008 में डेब्यू किया था और उन्होंने टीम इंडिया के लिए आखिरी वनडे मैच जुलाई 2015 में खेला। उन्होंने 12 वनडे, तीन T 20 मैच खेले. वनडे मैच में उन्होंने कुल 287 रन बनाए। 35 वर्षीय मनोज तिवारी ने टी 20 में 15 रन बनाए।

    बता दें कि पश्चिम बंगाल में अप्रैल-मई के महीने में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है। टीएमसी में शामिल होने से पहले मनोज तिवारी ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा था कि मुझे कठिन पिच पर तृणमूल कांग्रेस के लिए बल्लेबाज़ी करनी है। काफी होमवर्क के बाद राजनीति में आ रहा हूं। क्रिकेट खेलकर बहुत कुछ हासिल किया और अब लोगों के लिए काम करने का वक़्त है।  उन्होंने कहा कि मैंने खुद गरीबी देखी है, इसलिए मुझे पता है कि उन लोगों का दुख क्या है। उनके लिए काम करना चाहता हूं।

    तिवारी ने कहा था, ‘पेट्रोल का दाम 100 रुपये तक पहुंच गया है। देश में क्या हो रहा है? गरीब और किसान की हालत आज की तारीख में ठीक नहीं है। मैं उनके लिए काम करना चाहता हूं। मैं फुल टाइम पॉलिटिशियन बनने आया हूं। ममता बनर्जी से प्रेरणा लेकर राजनीति के मैदान पर खेलने आया हूं।’

    इससे पहले तिवारी ने किसान आंदोलन पर अंतरराष्ट्रीय हस्तियों के खिलाफ ट्वीट करने वाले कई नामचीन क्रिकेटरों की आलोचना भी की थी। उन्होंने कहा था, “जब मैं बच्चा था, मैंने कभी कठपुतलियों का शो नहीं देखा। यह देखने के लिए मुझे 35 साल लगे।”



    Source link

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Most Popular

    Recent Comments