32.1 C
New Delhi
Thursday, June 17, 2021

पिता की कार के नीचे आने से दो साल के मासूम की दर्दनाक मौत, मातम में बदली शादी की खुशियां

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img


मुरादाबाद के बिलारी में कार बैक करने के दौरान पहिये के नीचे आया दो साल का मासूम बच्चा

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मुरादाबाद. शादी की खुशियां उस समय मातम में तब्दील हो गईं, जब दो साल के एक मासूम की पिता की कार के नीचे आने से दर्दनाक मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मासूम अपनी बुआ की शादी में परिवार के साथ आया था। उसके पिता कार बैक कर रहे थे, वहीं मासूम कार के पीछे की तरफ सटकर खड़ा था। पिता ने ध्यान नहीं दिया और मासूम कार के पहिये के नीचे आ गया। आनन-फानन में उसे एक निजी अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसकी जानकारी मिलते ही शादी के घर में मातम पसर गया।

यह भी पढ़ें- भैंस चराने गया 13 साल का मासूम हिंडन में डूबा, सुराग नहीं

दरअसल, मुरादाबाद के गांगन तिराहा के रहने वाले डॉ. हसन अली एक निजी अस्पताल संचालक हैं। बताया जा रहा है कि मंगलवार रात डॉ. हसन अपनी पत्नी के भाई के दोस्त की बहन की शादी बिलारी गए थे। इस दौरान उनके साथ पत्नी डॉ. शमीम और उनका दो साल का बेटा हादी भी था। शादी के बाद वह बुधवार रात वह मुरादाबाद लौटने की तैयारी कर रहे थे। रिश्तेदारों से दुआ सलाम करने के बाद डॉ. हसन बैंक्वेट हाल की पार्किंग से कार बाहर निकालने के लिए पहुंचे। इसी बीच हादी भी उनके पीछे-पीछे आ गया और कार के पीछे खड़ा हो गया। डॉ. हसन को हादी के आने की भनक तक नहीं लगी। जैसे ही उन्होंने कार में बैक गेयर डाला और उसे पीछे हटाया तो हादी कार के पहिये के नीचे आ गया।

बच्चे की चीख सुनकर लोग मौके पर पहुंचे तो डॉ. हसन ने तेजी से कार आगे बढ़ाई। इसके बाद बच्चे को उठाया तो वह बेहोश हो गया। इसके बाद डॉ. हसन अन्य परिजनों के साथ बेसुध हादी को शाहाबाद रोड स्थित एक निजी अस्पताल में लेकर पहुंचे। जहां प्राथमिक उपचार के बाद बच्चे को मुरादाबाद स्थित साईं अस्पताल लाया गया, लेकिन बुधवार सुबह हादी ने दम तोड़ दिया। हादी की मौत से परिजनों में हाहाकार मच गया। बेटे हादी की मौत से पिता डॉ. हसन अली बेसुध हो गए। बताया जा रहा है कि हादी तीन भाई-बहनों में सबसे छोटा था। डॉ. हसन का बड़ा बेटा अब्दुल बहाव 11 साल और बेटी आसिफा नूर 7 साल की है। मां डॉ. शमीम और दोनों बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है।

यह भी पढ़ें- हैलो! ’25 लाख की रकम का इंतजाम कर लो, नहीं तो बेटे को उठा लेंगे’







Source link

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here