Sunday, January 17, 2021
More
    Home Blog

    किसानों के आंदोलन का 53वां दिन, राकेश टिकैत बोले- अन्नदाता सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित कमेटी के सामने नहीं जाएंगे

    0

    डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

    जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
    भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

    ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
    कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था। 



    Source link

    पुत्रदा एकादशी 2021: इस व्रत से संतान प्राप्ति में आने वाली बाधाएं होंगी दूर, जानें पूजा का शुभ मुहूर्त 

    0

    डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। हिंदू धर्म में व्रतों का काफी महत्व है, इनमें एकादशी व्रत विशेष तौर पर भगवान विष्णु की कृपा प्राप्ति ​के लिए किया जाता है। पौष मास में शुक्ल पक्ष को पड़ने वाली एकादशी को पौष पुत्रदा एकादशी के नाम से जाना जाता है। जो कि इस साल 24 जनवरी 2021 को है। इस दिन भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा की जाती है। मान्यता है कि पुत्रदा एकादशी का व्रत रखने वालों की भगवान विष्णु सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं।  

    जिन व्यक्तियों को संतान होने में बाधाएं आती हैं या जिन्हें पुत्र प्राप्ति की कामना हो उन्हें पुत्रदा एकादशी का व्रत अवश्य करना चाहिए। यह व्रत बहुत ही शुभ फलदायक होता है इसलिए संतान प्राप्ति के इच्छुक भक्तों को यह व्रत अवश्य रखना चाहिए जिससे कि उसे मनोवांछित फल की प्राप्ति हो सके। आइए जानते हैं इस पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि​ के बारे में…

    पौष मास: इस माह में करें सूर्य की उपासना,रखें ये सावधानियां

    पुत्रदा एकादशी शुभ मुहूर्त
    व्रत प्रारंभ: 23 जनवरी, शनिवार, रात 8:56 बजे से 
    व्रत समाप्ति: 24 जनवरी, रविवार, रात 10: 57 बजे तक
    पारण का समय: 25 जनवरी, सोमवार, सुबह 7:13 से 9:21 बजे तक

    व्रत नियम
    जो जातक एकादशी का व्रत करता है उसे एक दिन पहले ही अर्थात् दशमी तिथि की रात्रि से ही व्रत के नियमों का पूर्ण रूप से पालन करना चाहिए। सुबह सूर्योदय से पहले उठकर नित्य क्रिया से निवृत्त होकर स्नान करके शुद्ध और स्वच्छ धुले हुए वस्त्र धारण करके श्रीहरि विष्‍णु का ध्यान करना चाहिए। अगर आपके पास गंगाजल है तो पानी में गंगा जल डालकर नहाना चाहिए। पूरे दिन निराहार रहकर संध्या समय में कथा आदि सुनने के बाद फलाहार करें। दूसरे दिन ब्राह्मणों को भोजन तथा दान-दक्षिणा अवश्य देनी चाहिए, उसके बाद भोजन करना चाहिए। इस दिन दीपदान करने का बहुत महत्व है।

    वास्तु दोष: अपने दफ्तर में इन बातों का रखें ध्यान, मिलेगी तरक्की

    पूजा विधि
    इस पूजा के लिए श्रीहरि विष्णु की फोटो के सामने दीप जलाकर व्रत का संकल्प लेने के बाद कलश की स्थापना करनी चाहिए। फिर कलश को लाल वस्त्र से बांधकर उसकी पूजा करें। भगवान श्रीहरि विष्णु की प्रतिमा रखकर उसे स्नानादि से शुद्ध करके नया वस्त्र पहनाएं। इसके बाद धूप-दीप आदि से विधिवत भगवान श्रीहरि विष्णु की पूजा-अर्चना तथा आरती करें और नैवेद्य और फलों का भोग लगाकर प्रसाद वितरण करें। श्रीहरि विष्णु को अपने सामर्थ्य के अनुसार फल-फूल, नारियल, पान, सुपारी, लौंग, बेर, आंवला आदि अर्पित किए जाते हैं। 



    Source link

    UK: जी-7 समिट में शामिल होंगे प्रधानमंत्री मोदी, यूके के पीएम ने भेजा न्योता

    0

    डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। यूके के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पीएम नरेंद्र मोदी को 11 से 13 जून तक कॉर्नवाल क्षेत्र में होने वाले जी 7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है। शिखर सम्मेलन में कोरोना वायरस महामारी, जलवायु परिवर्तन और मुक्त व्यापार जैसे ग्लोबल टॉपिक्स पर चर्चा होगी। इस बार जी-7 के शिखर सम्मेलन में भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया को भी मेहमान के तौर पर बुलाया गया है।

    ब्रिटिश उच्चायोग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि दुनिया की फार्मेसी के रूप में भारत पहले से ही दुनिया को 50 प्रतिशत से ज्यादा वैक्सीन की आपूर्ति करता है। यूनाइटेड किंगडम और भारत ने कोरोना जैसी महामारी के दौरान एक साथ मिलकर काम किया है। हमारे प्रधानमंत्री लगातार बातचीत करते रहते हैं। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जी-7 से पहले भारत की यात्रा पर आ सकते हैं।

     बता दें कि इस साल भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में बोरिस जॉनसन को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया था, लेकिन ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को देखते हुए उनका भारत दौरा रद्द हो गया। अब जी 7 से पहले उनके भारत के दौरे की उम्मीद है।

    दुनिया की सात सबसे बड़ी विकसित अर्थव्यवस्था वाले देशों के ग्रुप को जी-7 कहते है। इन देशों में कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं। शुरुआत में ये छह देशों का ग्रुप था, जिसकी पहली बैठक 1975 में हुई थी, लेकिन एक साल बाद ही यानी 1976 में इस ग्रुप में कनाडा शामिल हो गया। हर एक सदस्य देश बारी-बारी से इस ग्रुप की अध्यक्षता करता है और सालाना शिखर सम्मेलन की मेजबानी करता है।



    Source link

    कोरोना वैक्सीन पर सियासत: सपा सांसद का दावा, वैक्सीन में गड़बड़ी, अभी ना लगवाएं

    0


    Highlights

    – सांसद ने कहा- सरकार टेस्टिंग के बाद ही टीकाकरण करवाए

    – संगीत सोम को भी दिया पाकिस्तान चले जाने पर जवाब

    – उलेमाओं के बयान का जिक्र भी किया

    पत्रिका न्यूज नेटवर्क
    संभल.
    देशभर में कोरोना टीकाकरण महा अभियान शुरू होते इस पर राजनीति भी तेज हो गई है। जबकि टीकाकरण के बाद से देशभर में कहीं से भी पहली डोज लेने के बाद कोई अप्रिय घटना सामने नहीं आई है। सबसे पहले उलेमाओं ने बयान जारी करते हुए कोरोना वैक्सीन में गड़बड़ी की आशंका जताते हुए टीकाकरण करवाने के लिए इंतजार करने के लिए कहा था। वहीं, अब संभल से समाजवादी पार्टी सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कोरोना वैक्सीनेशन लेकर कहा है कि यह वैक्सीन पहली बार आ रही है, अभी किसी ना देखा है और ना समझा है। इसलिए अभी कोरोन की वैक्सीन नहीं लगवाएं।

    यह भी पढ़ें- जौहर विश्वविद्यालय पर योगी सरकार का कब्जा, BJP विधायक बोले- आजम खान को करनी का फल मिल रहा है

    उल्लेखनीय है कि शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में कोरोना वैक्सीन लगाने के महाअभियान की शुरुआत की है, लेकिन इसी बीच संभल लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कोरोना वैक्सीन को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं। वैक्सीनेशन को लेकर सांसद बर्क ने बयान जारी करते हुए कहा है कि यह वैक्सीन पहली बार आ रही है, अभी तक किसी ने इसे ना देखा और ना समझा है। उन्होंने उलेमाओं का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने भी वैक्सीन मे कुछ गड़बड़ बताई थी। सपा सांसद ने आगे कहा कि नार्वे में कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल से 30 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है। इसलिए अभी कोरोना की वैक्सीन नहीं लगवाएं। वैक्सीन मुफीद है भी या नहीं इसका अभी इंतजार करें। इसके साथ सपा सांसद ने कहा कि सरकार पहले टेस्टिंग कराए उसके बाद ही टीकाकरण शुरू करे।

    संगीत सोम को भी दिया जवाब

    बता दें कि कोरोना वैक्सीन पर सवाल उठाने वालों को बीजेपी के फायरब्रांड विधायक संगीत सोम ने पाकिस्तान भेजने की बात कही थी। इसका जवाब देते हुए सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा है कि हम हिंदुस्तानी हैं। जब हम देश के बंटवारे के समय पाकिस्तान नहीं गए तो अब क्यों जाएंगे।

    अखिलेश यादव को देनी पड़ी थी सफाई

    ज्ञात हो कि सबसे पहले समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कोरोना वैक्सीन को लेकर कहा था कि यह भाजपा की वैक्सीन है। हम इस वैक्सीन को नहीं लगवाएंगे। जब प्रदेश में सपा की सरकार आएगी तो सबको फ्री में वैक्सीन लगेगी। हालांकि, सपा मुखिया अखिलेश यादव को बाद अपने बयान पर सफाई देनी पड़ी थी।

    यह भी पढ़ें- राम मंदिर निर्माण के नाम पर चंदे की अवैध वसूली, राष्ट्रीय बजरंग दल के खिलाफ FIR दर्ज















    Source link

    RPSC ने विधि रचनाकार के पदों पर निकाली भर्ती, 16 फरवरी तक कर सकते हैं आवेदन

    0

    डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

    जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
    भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

    ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
    कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था। 



    Source link

    RPSC ने विधि रचनाकार के पदों पर निकाली भर्ती, 16 फरवरी तक कर सकते हैं आवेदन

    0

    डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

    जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
    भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

    ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
    कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था। 



    Source link

    राम मंदिर निर्माण के नाम पर चंदे की अवैध वसूली, राष्ट्रीय बजरंग दल के खिलाफ FIR दर्ज

    0


    Highlights

    – अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के नाम पर अवैध वसूली को लेकर मुरादाबाद में दूसरी एफआईआर दर्ज हुई

    – राष्ट्रीय बजरंग दल के खिलाफ मुरादाबाद सिविल लाइंस थाने में दर्ज हुआ केस

    – राम मंदिर निधि समर्पण समिति के मंत्री प्रभात गोयल ने लगाया धोखाधड़ी का आरोप

    मुरादाबाद. अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के नाम पर अवैध वसूली को लेकर मुरादाबाद में दूसरी एफआईआर दर्ज हुई है। बता दें कि देशभर में राम मंदिर निर्माण में सहयोग राशि को लेकर हिंदू संगठन जागरुकता अभियान चला रहे हैं। विश्व हिंदू परिषद और संघ के सभी संगठन मिलकर सहयोग राशि एकत्रित करने का कार्य कर रहे हैं। लेकिन, चौंकाने वाली बात यह है कि मुरादाबाद में एक के बाद एक कथित हिंदू संगठनों द्वारा ठगे के मामले सामने आ रहे हैं। ताजा मामले में कथित राष्ट्रीय बजरंग दल के खिलाफ मुरादाबाद सिविल लाइंस थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। बता दें कि इससे पहले मुरादाबाद के मझोला थाने में विश्व हिंदू महाशक्ति संगठन के खिलाफ केस दर्ज किया गया था।

    यह भी पढ़ें- 48 साल तक MLC सीट पर किया एकछत्र राज, हारते ही टूटी जीवन की डोर, सीएम योगी ने भी की तारीफ

    राम मंदिर निधि समर्पण समिति के मंत्री प्रभात गोयल ने बताया कि हमारे कुछ कार्यकर्ता शनिवार को कृष्णा नगर कजरीसराय में राम मंदिर निर्माण के लिए सहयाेग राशि एकत्रित करने गए थे। वहां लोगों ने बताया कि उन्होंने दो दिन पहले ही चंदा दे दिया है। इस दौरान उन्होंने 21 और 25 रुपए की रसीदें भी दिखाईं। जब हमारे कार्यकर्ताओं ने चंदा लेने वालों के विषय में पूछा तो उन्होंने पांच लोगों के नाम बताए। इस पर हमने कंफर्म करने के लिए उन लोगों को फोन लगाते हुए पूछा कि आप चंदा जमा कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि हां हम मंदिर के लिए चंदा एकत्र कर रहे हैं। जबकि राम मंदिर के लिए चंदा एकत्रित करने का अधिकार किसी भी व्यक्ति को नहीं दिया गया है।

    मंत्री प्रभात गोयल ने बताया कि उन लोगों ने अपने संगठन का नाम राष्ट्रीय बजरंग दल बताया है। जबकि विहिप की युवा ईकाई का नाम बजरंग दल है। उन्होंने कहा कि बजरंग दल को बदनाम करने के लिए उससे मिलता हुआ नाम रखकर फर्जी रसीद बनवाई गई हैं। इतना ही नहीं आरोपियों ने हमारी पत्रिका से श्री राम मंदिर की फोटो भी रसीद पर छपवाई है। इस मामले में हमने उन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। गोयल ने बताया कि हमारे संगठन में 21 और 25 रुपए की कोई रसीद नहीं है। ये लोग आरएसएस और विहिप को बदनाम करना चाहते हैं।

    प्रभात गोयल ने बताया कि राम मंदिर के नाम पर सहयोग राशि संग्रह का अभियान सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सरकार द्वारा बनाई गई ट्रस्ट ही चला रही है। अयोध्या की ट्रस्ट के मंत्री चंपक राय हैं। विहिप और आरएसएस के सभी संगठन मिलकर इस योजना का क्रियान्वयन कर रहे हैं। हमारे पास 10, 100, और एक हजार रुपए के कूपन हैं, जिन पर श्रीराम का चित्र है। उन्होंने बताया कि हमारे यहां कोई एक व्यक्ति नहीं, बल्कि जिस क्षेत्र से चंदा एकत्रित किया जाता है उसकी निश्चित टीम और पदाधिकारी हैं।

    यह भी पढ़ें- जौहर विश्वविद्यालय पर योगी सरकार का कब्जा, BJP विधायक बोले- आजम खान को करनी का फल मिल रहा है







    Show More















    Source link

    SUV: Aston Martin DBX भारत में हुई लॉन्च, 4.5 सेकंड में पकड़ती है 100 Km की स्पीड 

    0

     डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। ब्रिटेन की लग्जरी स्पोर्ट्स कार बनाने वाली कंपनी Aston Martin (एस्टन मार्टिन) ने भारत में अपनी पहली एसयूवी DBX (डीबीएक्स) को लॉन्च कर दिया है। यह कार ग्लोबल मार्केट में पहले से ही मौजूद है। इसमें कई स्डैंडर्ड फीचर्स दिए गए हैं। इसके अलावा ग्राहक अपनी पसंद और सुविधा के हिसाब से इस कार को कस्टमाइज करा सकते हैं। हालांकि, इसके लिए उन्हें अतिरिक्त शुल्क देना पड़ेगा।

    बात करें कीमत की तो Aston Martin DBX एसयूवी को भारतीय बाजार में 3.82 करोड़ रुपए की दिल्ली एक्स-शोरूम कीमत में लॉन्च किया है। खास बात यह है कि कंपनी साल 2021 में Aston Martin DBX एसयूवी की सिर्फ 11 यूनिट्स भारत में बेचेगी। आइए जानते हैं इस कार की खूबियों के बारे में…

    Skoda Superb के दो नए वेरिएंट भारत में हुए लॉन्च, जानें क्या है खास

    एक्सटी​रियर
    Aston Martin DBX के फ्रंट हिस्से में चौड़ा ग्रिल दिया गया है। इस कार में बिना फ्रेम वाले दरवाजे दिए गए हैं। वहीं रियर में ट्विन-एग्जॉस्ट सिस्टम दिया गया है, जो कि बंपर के साथ फिट है। इस कार के रूफ पर स्पॉइलर दिया गया है। एलईडी टेल-लाइट्स और सिग्नेचर डकटेल-स्टाइल बूट लिड स्पॉइलर कार के लुक को आकर्षित बनाते हैं।

    इंटीरियर
    बात करें कार के इंटीरियर की, इसमें फुल-ग्रेन लेदर सीटें दी गई हैं। इसमें 10.25 इंच का टचस्क्रीन दिया गया है, ड्राइवर के सामने 12.3 इंच का टचस्क्रीन दिया गया है, जो सुपर शार्प ग्राफिक्स के साथ काफी स्पोर्टी लेआउट के साथ आता है। कार में एपल कारप्ले और 360-डिग्री कैमरा सिस्टम व एंबिएंट लाइटिंग सिस्टम स्टैंडर्ड दिए गए हैं। कार में म्यूजिक के लिए 14-स्पीकर्स (13 स्पीकर और 1 सबवूफर) दिया गया है। 

    MINI पैडी हॉपकिर्क एडिशन भारत में लॉन्च, जानें कितनी है खास

    इंजन और पावर
    Aston Martin DBX में 4-लीटर, ट्विन-टर्बो V8 इंजन दिया गया है। यह इंजन मर्सिडीज-एएमजी से लिया गया है, जो 550 PS का पावर और 700 Nm का टार्क जेनरेट करता है। इसमें 9-स्पीड टॉर्क कन्वर्टर ऑटोमैटिक गियरबॉक्स दिया गया है। बात करें स्पीड की तो यह कार सिर्फ 4.5 सेकंड में 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ने में सक्षम है। वहीं इसकी टॉप स्पीड 291 किलोमीटर प्रति घंटा है। 

     



    Source link

    Oppo A93 5G स्मार्टफोन हुआ लॉन्च, इसमें है ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप और Snapdragon 480 प्रोसेसर

    0

    डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Oppo ओप्पो का नया 5G स्मार्टफोन लंबे समय से चर्चा में रहा है। वहीं अब कंपनी ने तमाम खबरों और रिपोर्ट्स पर लगाम लगाते हुए इस फोन को लॉन्च कर दिया है। यहां हम बात कर रहे हैं Oppo A93 5G की जिसे चीन में आधिकारिक तौर पर लाॅन्च किया गया है। इस फोन में ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप दिया गया है। 

    इस स्मार्टफोन को कंपनी ने सिल्वर, ब्लैक और ऑरोरा कलर ऑप्शन में बाजार में उतारा है। लेकिन इसे अंतरराष्ट्रीय बाजार में कब तक लाया जाएगा। इसको लेकर फिलहाल कंपनी ने किसी तरह की जानकारी नहीं दी है। फिलहाल जानते हैं इस फोन की कीमत और स्पेसिफिकेशन…

    Vivo Y12s स्मार्टफोन भारत में हुआ लॉन्च, जानिए कीमत और स्पेसिफिकेशन्स

    कीमत 
    Oppo A93 5G स्मार्टफोन के 8GB रैम+ 256GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत CNY 1,999 (करीब 22,500) रुपए है। हालांकि इसकी कीमत की घोषणा कंपनी ने नहीं की है। इसके अलावा इसका 8GB रैम+ 128GB इंटरनल स्टोरेज वेरिएंट भी लॉन्च किया गया है। 

    Oppo A93 5G स्पेसिफिकेशन्स
    डिस्प्ले

    Oppo A93 5G में 90Hz रिफ्रेश रेट वाली 6.5 इंच की फुल HD+ LCD डिस्प्ले दी गई है, जो कि 1080×2400 पिक्सल का रेजॉल्यूशन देती है। 

    कैमरा
    फोटोग्राफी के लिए इस फोन में ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप दिया गया है। इसमें 48 मेगापिक्सल का प्राइमरी सेंसर, दूसरा 2 मेगापिक्सल का मैक्रो सेंसर और तीसरा 2 मेगापिक्सल का मोनोक्रोम सेंसर शामिल है। जबकि सेल्फी और वीडियो कॉलिंग के लिए इस फोन में पंच होल कटआउट के साथ 8 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है। 

    OnePlus ने भारत में लॉन्च किया अपना पहला फिटनेस बैंड

    प्लेटफार्म और प्रोसेसर
    Oppo A93 5G स्मार्टफोन एंड्राइड 11 ओएस पर रन करता है। इस स्मार्टफोन में क्वालकोम स्नेप ड्रैगन 480 प्रोसेसर दिया गया है। 

    बैटरी
    पावर के लिए Oppo A93 5G में 5,000mAh की बैटरी दी गई है, जो कि 18W फास्ट चार्जिंग सपोर्ट के साथ आती है। वहीं सुरक्षा के लिए इस फोन में साइड माउंटेड फिंगरप्रिंट सेंसर दिया गया है।



    Source link

    India vs Australia 4th Test day 3 live Cricket score: भारत का स्कोर 332/9, सुंदर 62 रन बनाकर आउट

    0

    डिजिटल डेस्क, ब्रिस्बेन। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रिस्बेन में चौथे टेस्ट के तीसरे दिन का खेल जारी है। टीम इंडिया ने 9 विकेट गंवाकर 320+ रन बना लिए हैं। टी नटराजन और मोहम्मद सिराज क्रीज पर हैं। मिचेल स्टार्क ने वॉशिंगटन सुंदर को कैमरून ग्रीन के हाथों कैच कराया। 

    सुंदर 62 रन बनाकर आउट हुए। ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में 369 रन पर ऑलआउट हुई थी। इस लिहाज से टीम इंडिया अब भी 30+ रन पीछे है। जोश हेजलवुड ने नवदीप सैनी को स्टीव स्मिथ के हाथों कैच कराया। वे 5 रन बनाकर आउट हुए।

    टीमें इस प्रकार हैं – 
    भारत: 
    अजिंक्य रहाणे (कप्तान), रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ, ऋद्धिमान साहा, ऋषभ पंत, रविचंद्रन अश्विन, नवदीप सैनी, मोहम्मद सिराज, शार्दुल ठाकुर, जसप्रीत बुमराह, टी नटराजन, वॉशिंगटन सुंदर 

    ऑस्ट्रेलिया: टिम पेन (कप्तान), डेविड वॉर्नर, मार्कस हैरिस, मार्नस लाबुशेन, स्टीव स्मिथ, मैथ्यू वेड, कैमरन ग्रीन, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, नाथन लियोन और जोश हेजलवुड



    Source link